Coming back to life.

कुछ शब्द थे अनजान से,
एक अपनी सी दुनिया की खोज थी !
ख्वाइशों को अपना पंख बनाकर,
आसमान से ऊंची उसकी उड़ान थी !
विवेक उसका अभिमान और नाम था !!

दुःख को अपनी कलम बनाकर,
कागज़ पर अलफ़ाज़ सजाकर,
खोल दे तू दिल के राज़,
होने दे अब खुदसे मुलाकात !!

Let the sharing games
& showering love begin.


Get in Touch

Contact

Dehradun, Uttarakhand